vasundhara-raje

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। मुख्यमंत्री राजे ने प्रदेश के जालोर, सिरोही, बाड़मेर और पाली के क्षेत्रों में हालात से निपटने के लिए किए जा रहे उपायों का फीडबैक ले रही है। जालोर जिले में हवाई सर्वेंक्षण के बाद मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि बाढ़ के कारण बने हालातों का स्थाई निराकरण किया जाएगा। उन्होने कहा कि इस जल त्रासदी से लोगों को बचाने और प्रभावित लोगों तक राहत पहुंचाने के लिए उच्च स्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन किया है। मुख्यमंत्री राजे ने आपदा प्रबंधन विभाग के अधियकारियों को बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे करवाकर केंद्र सरकार को जल्द से जल्द रिपोर्ट भिजवाने के निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री राजे ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की गौशालाओं के लिए 6.46 करोड़ रुपए का बजट भी दिया है। आपको बतादें कि प्रधानमंत्री मोदी ने भी राजस्थान में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मृतकों को 2-2 लाख रुपए देने की घोषणा की है साथ ही बाढ़ से घायल हुए लोगों को 50-50 हजार रुपए की सहायता देने की घोषणा की है।

हालातों से निपटने के लिए सबने मिलकर किया अच्छा काम

मुख्यमंत्री राजे ने बाढ़ प्रभावित जालोर जिले का दौरा कर प्रभावितो लोगों को राहत प्रदान करने के लिए हर संभव सहायता देने का वादा किया। हवाई सर्वेक्षण के बाद मुख्यमंत्री राजे जालोर जिले में उतरी और स्थानीय लोगों से मिलकर स्थितियों का जायजा लिया। जालोर जिला कलेक्टर, पुलिस अधिक्षक, सांसद और विधायकों ने मुख्यमंत्री राजे के बाढ़ के भयावह हालातों से निपटने के लिए की गई व्यवस्थाओं का ब्यौरा दिया। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि इतने भयंकर मौसम में दिन रात लोगों को बचाने और राहत पहुंचाने के लिए सरकार ने पूरी कोशिश की है। उन्होने कहा कि यह एफर्ट सबने मिलकर किया है। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि अब तक हालातों से निपटने के लिए सबसे मिलकर अच्छा काम किया है। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि गौशालाओं में गायों कि रक्षा के लिए आर्मी के और स्थानीय वेटेनरी डॉक्टर्स की टीम तैनात की गई है। साथ ही प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए 20 से अधिक राहत एवं बचाव शिविर लगाए गए है।

लापरवाहों को बख्शा नहीं जाएगा, जल्द मिलेगी मूलभूत सुविधाएं

मुख्यमंत्री राजे ने जालोर में कहा कि स्थानीय लोगों ने जिला प्रशासन का भरपूर साथ दिया है साथ ही उन्होने कहा कि स्थानीय भामाशाहों ने इन क्षेत्रों में राहत पहुंचाने के लिए आर्मी और प्रशासन का सहयोग किया है जिससे लोगों को बचाने का काम हो पाया है। मुख्यमंत्री राजे ने उन भामाशाहों को धन्यावाद प्रेषित किया है जिन्होने बाढ़ के हालात में अपने हेलिकॉप्टरों से लोगों तक राहत एवं बचाव सामग्री पहुंचाई। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि आने वाले दिनों में जल्द ही बाढ़ प्रभावित इलाकों में सड़क, नेटवर्क व अन्य सुविधायों को सूचारू किया जाएगा ताकि लोगों को अनायास ही परेशानी का सामना ना करना पड़े। प्रदेश में खासकर जालौर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में बाढ़ के हालातों से निपटने के लिए मुख्यमंत्री राजे ने आलाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि किसी भी स्थिति में बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाई जाये। इसमें कोताही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाही बरतने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here