राजस्थान में इन दिनों भारी बरसात से जल त्रासदी की स्थितियों बनी हुई है वहीं कुछ लोगों को इस विप्लव की स्थिती में भी आधारहीन और तुच्छ मानसिकता वाली राजनीति करने से बाज नही आ रहे है। हाल ही में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें वे हेलिकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर जल त्रासदी के कारण बद्तर हुई परिस्थितियों का जायजा ले रही है। इस तस्वीर को कुछ लोगों ने अपनी छोटी मानसिकता से देखा है, यानी मुख्यमंत्री राजे हेलिकॉप्टर से बाढ़ का जायजा ले रही है लेकिन उन लोगों को यह दिखाई नही देता और पास ही पड़े पानी और ज्यूस के बोतल उन्हे दिखाई देते है। राजस्थान की इस आपात स्थिती में मुख्यमंत्री राजे लोगों के पास जकर उन्हे किसी भी प्रकार से राहत देने की योजनाओं पर विचार-विमर्श कर रह है सुबह से लेकर शाम तक मुख्यमंत्री राजे लोगों के बीच रहती है इस बीच फूहड़ मानसिकता वाले लोगों ने पानी, जूस और चिप्स के पैकेट को राजनीति का मुद्दा तक बना लिया।

चिप्स के नाम पर अपनी रोटियों सेंकने में लगे लोग

दरअसल मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सोमवार को सुबह से ही बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर हालात का जायजा ले रही थी। इस दौरान हेलिकॉप्टर में रखी खाद्य सामग्री सहित मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पिक्चर लीक हुई । इस तस्वीर को मंद मानसिकता के लोगों ने हवाई पिकनिक का नाम दिया। अब अगर ऐसी आपात स्थिती में लोगों को काम करती हुई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हवाई पिकनिक करती हुई दिखाई दे तो इसे फूहड़ राजनीति ही कहेंगे। खैर, इन लोगों को कुछ बातें आवश्यक रूप से समझनी चाहिए जैसे कि ” चिप्स का हेलिकॉप्टर में होना कोई हवाई पिकनिक नही होता, चिप्स, पानी की बोतल और जूस की बोतल हेलिकॉप्टर में आवश्यक रुप से होती है जो कि आपातकालीन स्थितियों में खायी भी जा सकती है, चिप्स इस दुनिया में कोई भी खा सकता है उसका पिकनिक से कोई संबंध नही होता, जिसने चिप्स को पिकनिक से जोड़ा है वो शायद अभी अपनी पड़ोस की दुकान तक नही पहुंच पाया,यानी कुएं के मेंढ़क वाली स्थिती में है, और इस व्यक्ति की आंखें यह भी देख पाने में असक्षम है कि मुख्यमंत्री राजे ने चिप्स खायी नही थी, तो पिकनिक कैसे हो गई।

पूरा हिंदूस्तान खाता है चिप्स, पिकनिक मनाने के लिए ओर भी है ऑप्शन

आधारहीन और फूहड़ राजनीति करने वाले लोगों को यही दिखाई देता है कि सूबे की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हेलिकॉप्टर से बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण नही वो तो अपनी हवाई पिकनिक मनाने गई थी। अब अगर किसी को पिकनिक ही मनानी होगी तो वो जालोर, पाली, बाड़मेर और सिरोही के आसमान पर ही क्यों भटकेगा। मंदबुद्धियों को शायद दिखाई नही देता कि सुबह से लेकर शाम तक मुख्यमंत्री राजे ने लोगों से मुलाकात की है और इस त्रासदी से निपटने का हल खोजती रही वे खाना भी खा रही है या नही। इन लोगों को यह दिखाई नही देता कि चिप्स जैसी खाद्य सामग्री 10 से 30 रुपए में पूरे हिंदुस्तान में मिलती है तो क्या एक मुख्यमंत्री वो भी नही खा सकती, यानी मुख्यमंत्री राजे के लिए चिप्स खाना बैन है? राजनीति करने के लिए ओर भी कई मुद्दे है लेकिन राजस्थान में कुछ लोगों ने अपने राजनीति करने के स्तर को गिरा दिया है। खैर अब राजस्थान में विरोधियों और विपक्षियों के पास काम-धाम कुछ बचा नही इसलिए चिप्स, पानी और जूस को ही सही राजनीति का मुद्दा बना लिया ताकि काम चलता रहे, मतलब अपने आकाओं को अनुभव तो गिना ही सकता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here