Vasundhara Raje Kota

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हाल ही में कोटा दौरे पर रही। सीएम राजे ने इस दौरान जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कृषि आधारित उद्योगों की स्थापना से ग्रामीणों और किसानों को सीधा लाभ मिलेगा और उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे उद्योगों को प्रोत्साहन दे रही है जिससे किसानों को कृषि जिन्सों का उचित मूल्य मिले और उद्यमियों को भी फायदा हो। मुख्यमंत्री राजे ने बुधवार को कोटा जिले के ग्राम कसार में ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट ग्राम-कोटा में हुए 40 करोड़ रुपये के एमओयू के तहत गोयल वेज ऑयल लिमिटेड की सरसों-सोया संयंत्र की द्वितीय इकाई का शुभारंभ किया। सीएम राजे ने कहा कि छोटे-छोटे उद्योगों के विकास से ही प्रदेश के समग्र विकास का सपना पूरा हो सकेगा।

सीएम राजे ने कहा कि प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए सभी की भागीदारी के साथ आगे बढ़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उद्योगों में नई तकनीकी अपनाने से कम लागत के साथ गुणवत्तापूर्ण उत्पाद मिलेंगे। ऐसी औद्योगिक इकाइयों से स्थानीय लोगों को सीधा रोजगार मिलेगा तथा किसान एवं दूसरे रोजगारों में लगे आसपास के ग्रामीण भी लाभान्वित होंगे।मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व विधिवत मंत्रोच्चार के साथ पूजा-अर्चना कर तथा बटन दबाकर द्वितीय इकाई का शुभारम्भ किया। उन्होंने इकाई में तेल शोधन प्रक्रिया प्लांट का निरीक्षण भी किया।

हेलिकॉप्टर से गेंता-माखीदा ब्रिज देख निर्धारित समय में काम पूरा करने के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपने दौरे के दौरान कोटा जिले के गेंता और बूंदी जिले के माखीदा के बीच बन रहे पुल का हवाई सर्वेक्षण किया। बता दें कि इस पुल के निर्माण से सवाई माधोपुर व लाखेरी की तरफ से इटावा, बारां, झालावाड़ तथा मध्यप्रदेश के शिवपुरी जाने के लिए लगभग 70 किमी की दूरी कम हो जाएगी। वहीं कोटा जिले के गेंता के लोगों के लिए 55 किमी और बारां से वाया कोटा होकर लाखेरी आने वाले यात्रियों के लिए 62 किमी का सफर कम हो जाएगा। सीएम राजे ने इसके बाद जयपुर पहुंचकर पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान को ब्रिज का काम निर्धारित समय सीमा में पूरा करवाने के निर्देश दिए हैं।

Read More: अशोक गहलोत की टी-पार्टी में पहुंचीं पूर्व राष्ट्रपति पाटिल

120 करोड़ रूपये की लागत से बन रहा है 1562 मीटर लंबा पुल Vasundhara Raje Kota

दरअसल, मुख्यमंत्री राजे बुधवार को कोटा से हेलिकॉप्टर द्वारा जयपुर लौट रही थीं। इस दौरान उन्होंने 120 करोड़ रूपये की लागत से बन रहे करीब 1562 मीटर लंबे इस पुल के निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लिया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने आजादी के समय से चली आ रही इस क्षेत्र के लोगों की मांग को पूरा करते हुए गत वर्ष जनवरी में इस पुल का शिलान्यास किया था। राजे ने दिसम्बर, 2013 में सरकार बनते ही चम्बल नदी में घड़ियाल वन्यजीव क्षेत्र होने के कारण इस पुल के निर्माण में आ रही रूकावटों को दूर किया और पुल के लिए सुप्रीम कोर्ट तथा केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से निर्माण की स्वीकृति प्राप्त की। Vasundhara Raje Kota

कांग्रेसी नेता शांति धारीवाल के घर पहुंचकर संवेदना व्यक्त की Vasundhara Raje Kota

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कोटा दौरे के दौरान सांगोद विधायक हीरालाल नागर के इन्द्रा विहार स्थित आवास एवं व्यापार महासंघ के अध्यक्ष कांति जैन के बूंदी रोड स्थित फार्म हाउस पहुंचकर परिवार में शादी समारोह में शुभकामनाएं दी। सीएम राजे ने पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेसी नेता शांति धारीवाल के भतीजे शेखर धारीवाल के 2 फरवरी को हुए आकस्मिक निधन पर उनके राजभवन रोड स्थित आवास पहुंचकर सांत्वना व्यक्त की। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपने कोटा दौरे पर कहा कि मैं आज जो कुछ भी हूं, साधु-संतों के आर्शीवाद से ही हूं। उन्होंने यहां संगठन कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुए कहा कि जनहित में अधिक से अधिक कार्य करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here