vasundhara-raje

राजस्थान में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए राज्य सरकार द्वारा कई महत्तवपूर्ण बिंदुओं पर कार्य किया हैं। मुख्यमंत्री राजे के नेतृत्व में प्रदेश भर के कई भामाशाहों ने राज्य के शिक्षा स्तर को सुधारने के लिए प्रदेश सरकार को अपना बहुमूल्य सहयोग भी दिया है। राजस्थान के सरकारी स्कूलों के लिए दान करने वाले भामाशाहों ने कई रिकॉर्ड बना डाले है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के द्वारा सरकारी विद्यालयों की दशा और शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए किए गए आह्वान के बाद प्रदेश में लगातार भामाशाहों और उनके द्वारा किया जा रहा दान बढ़ता ही जा रहा है। भामाशाहों द्वारा किए जा रहे इस दान से बच्चों के लिए भवन, भोजन और शिक्षा की उत्तम व्यवस्था की जा रही है। इस साल हुए भामाशाह सम्मान समारोह से पहले ही राज्य सरकार के पास करीब 62 करोड़ से ज्यादा का दान एकत्रित हो चुका था। इसके बाद जब से सम्मान समारोह हुआ है तब से केवल शिक्षा के लिए राज्य सरकार के पास करीब 100 करोड़ का भामाशाह फंड का कलेक्शन हो चुका है।

100 करोड़ की सहायता राशि से निखरेगा राजस्थान का भविष्य

गुरुवार को विद्या भारती राजस्थान की ओर से हुए प्रतिभा सम्मान कार्यक्रम में मुख्यमंत्री राजे ने शिरकत की। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि परिश्रम का कोई विकल्प नही होता। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि परिश्रम के साथ-साथ बड़ों के सामने झुकने और गुरूजनों का सम्मान करने से ही सपने पूरे किए जा सकते हैं। मुख्यमंत्री राजे ने प्रदेशभर के भामाशाहों को एक बार फिर धन्यवाद देते हुए कहा कि इस साल शिक्षा के लिए 100 करोड़ की सहायता राशि भामाशाहों से मिली है अब प्रदेश में शिक्षा बदल रही है और इसी के परिणामस्वरूप राज्य में 12 लाख बच्चों ने निजी विद्यालयों से निकलकर सरकारी स्कूलों में प्रवेश लिया है। उन्होने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता बढ़ाने की दिशा में 4 और 5 अगस्त को एजुकेशन फेस्टिवल हो रहा है। शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि राजस्थान में शिक्षा की गुणवत्ता सधरने के बाद दूर-दराज में रहने वाले बच्चे भी 97 फीसदी तक अंक प्राप्त कर रहे है।

1411 भामाशाहों ने लिखी राजस्थान की नई इबारत

मुख्यमंत्री राजे के आह्वान के बाद राज्य के भामाशाहों ने शिक्षा क्षेत्र में अपना अप्रितम योगदान दिया है। राजे के आह्वान पर प्रदेश के 1411 भामाशाहों ने करीब 250 करोड़ से ज्यादा राशि का सहयोग दिया था। इस साल भामाशाह सम्मान समारोह से पहले ही राज्य सरकार के पास 109 भामाशाहों द्वारा 62 करोड़ 32 लाख की सहायता राशि मिल चुकी थी। इससे पहले भामाशाह सम्मान समारोह में प्रदेश को शिक्षा के लिए करीब 57 लाख रुपए की सहायता राशि मिली थी। मुख्यमंत्री राजे की सरकार शिक्षा क्षेत्र में तन,मन और धन से सहयोग करने वाले भामाशाहों  को सम्मान करती है साथ ही उन प्रेरकों को भी सम्मानित करती है जो भामाशाहों को सरकार का सहयोग करने के लिए प्रेरित करते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here