vasundhara-raje

राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए प्रदेश भाजपा ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी अपने संगठनात्मक ढांचे में बदलाव की तैयारी में है। प्रदेश भाजपा का कुनबा बढ़ाने की कवायद के बीच संगठन के लिहाज से बड़े जिलों का विभाजन कर पांच नए जिले बनाए जाएंगे। इसके बाद प्रदेश में भाजपा की 39 की जगह 44 जिला इकाइयां हो जाएंगी। हालांकि नए जिलों के नामकरण को लेकर प्रदेश भाजपा में आपसी सहमति बनाई जा रही है।

मुख्यमंत्री राजे और परनामी में हुई बातचीत




जानकारी के अनुसार भाजपा में संगठनात्मक विस्तार की तैयारी जारी है। इसके तहत नए जिला संगठन बनाने का खाका तैयार हो रहा है। करीब पांच नए जिला संगठन बनाने की योजना को बीजेपी केन्द्रीय संगठन की अनुमति का इंतजार है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी के बीच भी इस बारे में बातचीत हो चुकी है।  प्रदेश में नए जिला संगठनों के नाम और क्षेत्राधिकार पर विवाद ना हो इसके लिए भी मुख्यमंत्री राजे और प्रदेश नेतृत्व के बीच बात हो चुकी है।




39 से 44 हो जाएगी प्रदेश इकाइयों की संख्या

राजस्थान में संगठनात्मक आधार पर भाजपा के 39 जिले हैं। इनमें कुछ जिले ऐसे हैं जो अपने क्षेत्रीय और राजनीतिक आकार के कारण अन्य जिला संगठनों से बड़े हैं। यहां राजनीतिक तौर पर सूक्ष्म गतिविधियां चलाना जिला अध्यक्षों के बूते के बाहर है। इनमें जयपुर देहात, जोधपुर देहात, नागौर, अलवर और बाड़मेर शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार नागौर और जोधपुर देहात के विभाजन पर प्रदेश नेतृत्व ने मुहर लगा दी है। नागौर की दूसरा जिला इकाई का नाम डीडवाना के नाम से हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here