amit-shah

केंद्र के साथ-साथ देश के सत्रह राज्यों की सत्ता पर काबिज़ भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जब कल शुक्रवार को राजस्थान की राजधानी आये तो राजधानी जयपुर का रंग भाजपामय हो गया। सवेरे 10:30 बजे शहर के सांगानेर एयरपोर्ट पर उतरते ही शहरवासियों ने शाह के लिए पालक पावड़े बिछा दिए। प्रदेश की मुखिया वसुंधरा राजे, प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष अशोक परनामी साथ ही मंत्रिमंडल के सदस्यों और पार्टी के हज़ारों कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने पधारो म्हारे देश की राजस्थानी रीत के साथ शाह का स्वागत-सत्कार किया। अपने दिनभर के व्यस्त कार्यक्रम में शाह ने प्रदेश भाजपा के मंत्री, सांसदों, विधायकों, पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया। शाह ने राजस्थान सरकार के सुशासन का जायज़ा लिया। विभागीय मंत्रियों से कामकाज का फीडबैक लिया।

प्रदेश कार्यालय में आयोजित की गयी समीक्षा बैठक:

एयरपोर्ट से शाह सीधे पार्टी के प्रदेश कार्यालय पहुंचे। इस रास्तें के बीच जवाहर सर्किल, वर्ल्ड ट्रेड पार्क के सामने, शिक्षा संकुल, गांधी सर्किल, जेडीए सर्किल, अंबेडकर सर्किल और महात्मा ज्योतिराव फुले सर्किल पर शाह का बड़ी संख्या में महिला और पुरुष कार्यकर्ताओं ने ज़ोरदार स्वागत किया। भाजपा कार्यालय में शाह प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल की बैठक में शामिल हुए। बैठक में उन्होंने राजस्थान में भाजपा को बूथ स्तर पर मज़बूती देने की रणनीति बनाई। भाजपा का प्रसार राजस्थान के चप्पे-चप्पे तक करने पर कार्ययोजना बनाई गई। बैठक में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, मंत्री सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

बिड़ला सभागार में पार्टी अधिकारियों के साथ प्रबुद्धजनों और शिक्षाविदों से किया विमर्श:

शाम को अमित शाह बिड़ला सभागार में आयोजित की गई प्रबुद्धजनों और शिक्षाविदों की विमर्श मीटिंग में शामिल हुए। यहाँ सभी पार्टी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए अमित शाह ने कहा है कि केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजस्थान में वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में हमारी सरकार ने देश के गरीब से गरीब व्यक्ति की भी चिंता की हैं। शाह ने कहा कि भाजपा सरकार के फैसले जनहित में होते हैं। ये योजनाएं और निर्णय जनता के लिए अच्छे दूरगामी परिणाम देते है। अपने सम्बोधन में शाह ने बताया कि भाजपा आंतरिक लोकतंत्र और सिद्धान्तों के आधार पर चलने वाली पार्टी है। सिद्धान्तों के प्रति निष्ठा ही पार्टी में आगे बढ़ने का आधार है। यहींकारण है कि 10 सदस्यों से शुरू हुआ जनसंघ आज भाजपा के रूप में दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल बन गया है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने अपने उद्बोधन में प्रधानमन्त्री मोदी की नेतृत्व कुशलता और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की दूरदर्शी रणनीतिक सोच को भाजपा के लगातार बढ़ते जनाधार और पार्टी में देशवासियों के बढ़ते विश्वास का आधार बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here