भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने तीन दिवसीय राजस्थान प्रवास के दौरान रविवार को भाजपा मुख्यालय में सभी आयोग, प्रकल्प, मोर्चा अध्यक्षों और संयोजकों की बैठक के बाद सुशीलपुरा में एक दलित भाजपा कार्यकर्ता के धर भोजन करने पहुंचे। शाह के साथ राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी तथा प्रदेश सरकार के मंत्री एवं सांसद भी दलित कार्यकर्ता रमेश पचारिया के घर भोज के निमंत्रण पर पहुंचे।

गट्टे की सब्जी, दही और तवा रोटी का चखा स्वाद

कार्यकर्म के दौरान अमित शाह भोजन के लिए वार्ड संख्या 29 में अजमेर रोड़ स्थित सुशीलपुरा में तेजाजी मंदिर के पास दलित कार्यकर्ता रमेश पचारिया के यहां दोपहर करीब 1 बजे भोजन करने पहुंचे। इस दौरान मेजबान परिवार ने शाह सहित मुख्यमंत्री राजे और प्रदेश के मंत्रियों को भोज के रूप में शुद्ध राजस्थानी खाना परोसा। भोज में तवा रोटी, हलवा, कम मिर्ची की दाल, भिंडी की सब्जी, गट्टे की सब्जी, चावन और दही परोसा गया।

दलित नहीं पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता के तौर चयन

जयपुर मेयर और बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता अशोक लाहोटी ने बताया कि शाह जिस घर में खाना खाने वाले हैं वह किसी जाती या बिरादरी को देखकर नहीं चुना गया। यह बिरदीबाई का घर है जो दामोदर बलाई की विधवा हैं। पार्टी में सक्रिय भूमिका और विश्वास के चलते ही इस परिवार को चुना गया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने करीब दो महीने पहले वाराणसी के सेवापुरी जोगियापुर गांव के निषाद बस्ती में भी दलितों के साथ खाना खाया था। शाह ने इस बस्ती के दलित समाज के गिरिजा प्रसाद बिंद के घर पर भोजन किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here