nitish-kumar

बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने कई दिनों से चल रही उठापटक के बाद आखिर आज इस्तीफा दे ही दिया। बिहार में बुधवार को जेडीयू की विधायक दल की बैठक से ही सीएम नीतिश के इस्तीफें की खबरें आ रही थी। बैठक के बाद मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को भेज दिया है और वे अब किसी भी वक्त राज्यपाल से भी मिल सकते है। आपको बतादें कि कई दिनों से बिहार में मुख्यमंत्री नीतिश कुमार और लालू प्रसाद यादव के बेटे एवं बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के बीच चर रहे विवाद का अंत संभव है। इस्तीफा देने के बाद नीतिश कुमार ने कहा कि बिहार में इस प्रकार के हालात हो गए है कि हम काम नही कर पा रहे है। उन्होने कहा कि कुछ लोगों ने अनैतिक कार्यों के लिए दबाव बनाया था, बिहार में आरजेडी और जेडीयू के बीच कोई संकट नही है लेकिन बिहार सरकार के बीच संकट लाया गया है जिससे काम नही किया जा सकता।

सरकार पर बनाया जा रहा है दबाव, गठबंधन का घोंटा गला

बुधवार शाम को राजधानी पटना में जेडीयू अध्यक्ष नीतिश कुमार ने जेडीयू विधायकों, सांसदों और पदाधिकारियों की बैठक ली। इस बैठक के बाद नितिश कुमार राज्य पाल से मिलने का वक्त मांगा और अपना इस्तीफा सौंपने का फैसला किया। इस्तीफा देने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने कहा की सरकार में हमारी भूमिका खत्म हो गई है। सरकार ने कुछ लोग बिना एजेंडे के काम कर रहे है और बिना सोच के काम करने पर तुले हुए है। उन्होने कहा कि गठबंधन का गला घोंट दिया गया है और मेरे जैसे व्यक्ति द्वारा यह सरकार चलाना संभव नही है।

काम करने की कोशिश की लेकिन हमारा काम करना संभव नही

मुख्यमंत्री कुमार ने कहा कि मैने महामहिम से मुलाकात कर इस्तीफा सौंप दिया है हमसे जितना हुआ है उतना गठबंधन का धर्म निभाया है। उन्होने कहा कि उन्होने हमेशा जनता के हित में काम किया आगे भी लगातार बिहार के लिए काम करने की कोशिश की । उन्होने बताया कि बिहार में जो माहौल था उसमे हमारा काम करना मुश्किल हो गया था। नीतिश ने यह साफ कर दिया था कि उन्होने कभी नीतिश कुमार से इस्तीफा नही मांगा था लेकिन लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी पर  जो आरोप लगे थे उन्हे वे साफ करने के लिए स्पष्टीकरण मांग रहे थे जिससे यह सारा घटना क्रम उत्पन्न हुआ है।

तेजस्वी से नही मांगा इस्तीफा, आरोपों का स्पष्टीकरण भी मांगा

इस खबर के बाद बिहार में महागठबंधन को लेकर लगाए जा रहे कयासों को और हवा मिल गई है। जेडीयू की बैठक से पहले ही आरेजडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी समेत उनके बेटे और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा था कि नीतीश ने उनसे न ही इस्तीफा मांगा है और न ही भ्रष्टाचार के आरोपों पर कोई सफाई मांगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here