राजस्थान का एंबुलेंस स्कैम फिर आया सामने: सचिन पायलट और अशोक गहलोत का नाम पैराडाइज पेपर्स में

0
2231
Sachin Pilot Ambulance Scam
Sachin Pilot & Ashok Gehlot have come into limelight for accused involvement in 'Ambulance Scam' as per Paradise Papers.

भारत में पिछले वर्ष आठ नवंबर को कालेधन को बाहर लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी, ठीक उसके एक साल पूरा होने से दो दिन पहले पैराडाइज पेपर्स से किए गए कालेधन पर हुए सनसनीखेज खुलासे ने देश की राजनीति में भी भूचाल ला दिया है। sachin pilot ambulance scam

Read more: अलवर-अजमेर में 19 प्रतिशत नए मतदाता करेंगे उपचुनावों का फैसला

पैराडाइज पेपर्स में 1.34 करोड़ दस्तावेज शामिल हैं। इसमें 714 भारतीयों के नाम का भी जिक्र है। जिसमें राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ती चिदंबरम, वर्तमान में केंद्र सरकार में राज्यमंत्री जयंत सिन्हा, नीरा राडिया, विजय माल्या और एक्टर अमिताभ बच्चन, संजय दत्त की पत्नी मान्यता दत्त जैसे कई बड़े नाम शामिल हैं। पेपर्स में दुनिया के कई रईस और शक्तिशाली हस्तियों के गोपनीय निवेश की जानकारी है।

जर्मनी के अखबार ने किए खुलासे  sachin pilot ambulance scam

ये खुलासे प्रसिद्ध जर्मन अखबार ‘जीटॉयचे साइटुंग’ ने किए हैं। जीटॉयचे साइटुंग अखबार द्वारा ही तकरीबन 18 महीने पहले पनामा पेपर्स का भी खुलासा किया गया था। इस अखबार ने टैक्स हैवन के नाम से जाने जाने वाले विश्व के 19 देशों से ये महत्वपूर्ण दस्तावेज हासिल किए हैं। आईसीआईजे यानि इंटरनेशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट ने 90 मीडिया संस्थानों के साथ मिलकर इन दस्तावेजों की जांच की है। sachin pilot ambulance scam

देश के लिए इसलिए खास हैं ये खुलासे

जर्मन अखबार द्वारा किए गए ये खुलासे भारत के लिए इसलिए भी खास है क्योंकि नोटबंदी की वर्षगाठ से ठीक दो दिन पहले कालेधन का खुलासा हुआ है। नरेंद्र मोदी सरकार ने कालेधन को बाहर लाने के लिए ही नोटबंदी की थी। अब ये खुलासे ऐसे समय में हुए हैं जब मोदी सरकार आठ नवंबर को नोटबंदी सफल रहने की सालगिरह मना रही है। वहीं विपक्षी दल कांग्रेस आठ नवंबर को नोटबंदी की पहली सालगिरह को ‘एंटी ब्लैक मनी डे’ के तौर पर मनाने की तैयारी कर रही है। sachin pilot ambulance scam

sachin pilot ambulance scam

राजस्थान एंबुलेंस घोटाला से कनेक्शन

पैराडाइज पेपर्स खुलासे के मामले में राजस्थान एंबुलेंस घोटाले का भी जिक्र है। इस घोटाले की पुलिस जांच में कथित तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट व पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम के बेटे कार्ती चिदंबरम का भी नाम आया था। sachin pilot ambulance scam

क्या है एंबुलेंस घोटाला और क्यूं आया अशोक गहलोत और पायलट का नाम sachin pilot ambulance scam

साल 2009 में राजस्थान में एंबुलेंस घोटाला हुआ था। ज़िकित्ज़ा हेल्थकेयर नाम की एक कंपनी को राज्य में अस्पतालों या चिकित्सा केंद्र से दूर स्थित ग्रामीण इलाकों में एंबुलेंस सेवा मुहैया कराने के लिए चुना गया था, लेकिन इसमें कथित रुप से गबन करने की बात सामने आई। वर्ष 2015 में की गई ऑडिट में पाया गया कि सिर्फ कागज़ों में मौजूद ज़िकित्ज़ा नाम की इस कंपनी को एंबुलेंस सेवा मुहैया कराने के लिए पैसों का भुगतान किया गया। इस घोटाले की बड़ी बात यह है कि ज़िकित्ज़ा कंपनी का संचालन तत्कालीन केंद्रीय मंत्री व्यालार रवि के बेटे रवि कृष्णा करते थे। इसके अलावा कंपनी के निदेशकों में तत्कालीन गृहमंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी शामिल हैं। उस वक्त राजस्थान में अशोक गहलोत मुख्यमंत्री थे। कथित रूप से हुए घोटाले में सीबीआई ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता सचिन पायलट के खिलाफ भ्रष्टाचार का आपराधिक मामला दर्ज किया था।

RESPONSES

Please enter your comment!
Please enter your name here