lalu-yadav

अवैध तरीकों से अकूत संपत्ति और रेल मंत्री रहते रेलवे होटल घोटाले के मामले में सीबीआई ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के 12 ठीकानों पर छापेमारी की। सीबीआई के छापों से आगबबूला हुए आरजेडी प्रमुख ने कहा है कि जिन होटलों को लीज देने के नाम पर सीबीआई ने उनके घर छापे मारे हैं वे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के शासन काल में ही बने है। सीबीआई छापों से बौखलाएं लालू प्रसाद यादव ने इसके पीछे प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का हाथ होने का दावा भी किया है। आपको बतादें कि सीबीआई ने राजद प्रमुख लालूप्रसाद यादव, उनकी पत्नी एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव  के खिलाफ 420 औऱ 120ए के तहत मामला दर्ज कर छापेमारी की है। लालू यादव ही नही उनकी बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश भी मुश्किल में है। मीसा और शैलेश पर जांच एजेंसिया और सख्त हो गई है। जांच में पता चला है कि मीसा और शैलेश की कंपनी से एक ही दिन में बैंक से शैल कंपनियों के जरिए 90 लाख रुपए का फंड इधर-उधर हुआ है। ईडी की टीमों ने मीसा और शैलेश के तीन ठिकानों पर दबिश दी है।

लालू यादव के 12 ठिकानों पर छापेमारी

सीबीआई द्वारा लालू के 12 ठिकानों पर छापेमारी की गई जिनमें दिल्ली, पटना, पुरा और रांची भी शामिल है। लालू यादव पर साल 2006 में केंद्रीय रेल मंत्री के पद पर रहते हुए रेलवे होटल आवंटन करने का आरोप है। सीबीआई ने आईआरसीटीसी के पूर्व एमडी के घर के अलावा एक प्राइवेट कंपनी और यादव के विश्वासपात्र प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सुजाता और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। गुप्ता कॉर्पोरेट मामलों के पूर्व केंद्रीय मंत्री है।

रेलवे होटलों के नाम पर किया करोड़ो का काला कारोबार

जानकारी के अनुसार साल 2006 में रांची और पुरी के बीएनआर होटलों के विकास, रखरखाव और संचालन के लिए निविदाओं में कथित अनियमित्ताएं पाएं जाने के मामले में मामला दर्ज किय गया है। यह निविदाएं निजी कंपनी सुजाता होटल्ट को दी गई थी। बीएनआर होटल रेलवे के हैरिटेज होटल है जिन्हे उसी साल 2006 में आईआरसीटीसी ने अपने आधिप्त्य में लिया था। पूर्व रेल मंत्री लालू यादव पर आरोप है कि रेलवे की जमीन को लीज पर देने के कुछ मामलों मे भारी घोटाले किए गए थे। वहीं सीबीआई को शक है कि इस मामले के पीछे जितने भी लोग है उन्होने गड़बड़ी कराने के लिए पैसे का लेनदेन भी किया गया था।

बेटी मीसा और दामाद शैलेश भी मुश्किल में

ईडी के मुताबिक जांच में पाया गया कि मिशैल प्रिंटर्स ऐंड पैकर्स प्राइवेट लिमिटेड के 1,20,000 शेयर, साल 2007-08 में 100 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से चार मुखौटा कंपनियों शालिनी होल्डिंग्स लिमिटेड, एड-फिन कैपिटल सर्विसेज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, मणि माला दिल्ली प्रॉपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड और डायमंड विनिमय प्राइवेट लिमिटेड ने खरीदे थे। एजेंसी ने बताया कि बाद में इन 1,20,000 शेयरों को मीसा ने प्रति शेयर 10 रुपये के हिसाब से खरीदा लिया। प्रवर्तन निदेशालय ने मीसा से कथित रूप से संबंधित सीए राजेश अग्रवाल को भी गिरफ्तार किया है। अग्रवाल ने मिशैल प्रिंटर्स एंड पैकर्स लिमिटेड में 60 लाख रुपये की अकॉमडेशन एंट्री की थीं। मीसा द्वारा शेयर खरीदने से पहले यह फर्म 25, तुगलक रोड पर पंजीकृत थी। साल 2009-10 में इसका पता बदलकर बिजवासन हो गया।

आरजेडी प्रमुख खफा, कहा मोदी को मिट्टी में मिला देंगे

मामले को लेकर आरजेडी प्रमुख आगबबूला हो गए । उन्होने प्रधानमंत्री मोदी औऱ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित को इसका जिम्मेदार बताया है। लालू यादव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा है कि यह सब मोदी को शाह का करा धराया है। उन्होने पीएम मोदी को चेतावनी भरे स्वर में कहा कि “मोदी, शाह के अहंकार को चूर-चूर कर देंगे, हम फांसी पर लटक जाएंगे लेकिन मोदी को मिट्टी में मिला देंगे”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here