गुजरात राज्यसभा की तीन सीटों के लिए चुनाव आज शाम संपन्न हुए। 182 विधानसभा सीटों वाली गुजरात विधानसभा में वर्तमान में 6 सीट खाली है। इस तरह कुल 176 विधायकों ने राज्यसभा सांसद के लिए वोट किया। गुजरात से राज्यसभा की तीन सीटों पर भाजपा ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, स्मृति ईरानी और कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में आए नेता बलवंत सिंह राजपूत को उम्मीदवार बनाया है। इस चुनाव में बीजेपी की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और स्मृति ईरानी की जीत तो पक्की मानी जा रही है। लेकिन तीसरी सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल बलवंत सिंह राजपूत के बीच कांटे की टक्कर है। कांग्रेस के अहमद भाई पटेल को पांचवी बार राज्यसभा सांसद बनने के लिए 45 वोट चाहिए। लेकिन कांग्रेस के समर्थन में 44 विधायक होने के कारण अभी इस पर सस्पेंस है। ऊपर से इन 44 कांग्रेसी विधायकों में से 2 विधायकों द्वारा भाजपा के समर्थन में क्रॉस वोटिंग करने की बात कही जा रही है। शाम 4 बजे तक वोटिंग पूरी हो चुकी थी। लेकिन विवादों के बीच उलझ जाने के कारण अभी तक नतीजे नहीं आए।

कांग्रेस के 2 विधायकों ने की भाजपा के पक्ष में क्रॉस वोटिंग:

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर कई दिनों पहले से ही सियासी समीकरण उलझने लग गए थे। विधानसभा में कांग्रेस के कुल 51 विधायकों में से शंकर सिंह वाघेला समेत 7 विधायकों ने पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया था। इस तरह कांग्रेस के पास कुल 44 विधायक बचे थे। इन 44 विधायकों को कांग्रेस ने भाजपा नेताओं के संपर्क में आने से बचाने के लिए बेंगलुरु के एक रिसोर्ट में ठहरा रखा था। पिछले कई दिनों से इन विधायकों को बेंगलुरु के रिसोर्ट में रखा गया था।

कांग्रेस के अहमद पटेल का लगातार पांचवी बार राज्यसभा में जाना उस समय खटाई में पड़ गया था जब कांग्रेस के 44 विश्वस्त विधायकों में से 2 ने भाजपा के पक्ष में क्रॉस वोटिंग कर दी थी। कांग्रेस के भोलाभाई और राघवजी भाई ने वोट करने के बाद अपने बैलट पास खड़े नेताओं और अमित शाह को दिखा दिए थे। इसलिए रणदीप सुरजेवाला सहित कई कांग्रेसी नेताओं ने चुनाव आयोग जाकर इन दो सांसदों के वोट खारिज़ करने की मांग की है। भाजपा की और से अरुण जेटली और रविशंकर प्रसाद भी चुनाव आयोग में इस मुद्दे पर चर्चा कर रहे हैं। इसी विषय पर अभी तक मामला अटका हुआ है। इसलिए चुनाव आयोग ने अभी तक मतगणना शुरू नहीं की है।

के.सी. त्यागी ने कहा हमारे विधायक ने भाजपा के पक्ष में मतदान किया:

जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव के.सी. त्यागी की कही गई बात यदि सच हो जाती है तो अहमद पटेल का जीतना लगभग नामुमकिन ही हो जाएगा। के.सी. त्यागी ने बताया कि जदयू के गुजरात विधायक छोटुभाई वसावा ने भाजपा के लिए वोट किया है। त्यागी ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने भाजपा के समर्थन में वोट करने के लिए कहा था। इसलिए छोटुभाई ने भाजपा को ही वोट दिया है। हालांकि जेडीयू के अन्य नेता अम्बालाल ने इस बात को सिरे से नकार दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here