फोन पर बात करते हुए स्कूल बस चला रहा था ड्राइवर, हादसे में 6 बच्चे घायल, 2 की हालत गंभीर

    0
    90

    जयपुर। झालावाड़ में आज सवेरे बच्चों से भरी एक स्कूल बस बेकाबू होकर पलट गई। बस जब फोरलेन रोड पर आई तो कुछ समय के बाद अचानक बेकाबू हो गई और डिवाईडर से टकराने के बाद पलट गई। बस में उस समय करीब पच्चीस बच्चे सवार थे। बस पलटते ही बच्चों की चीख-पुकार मच गई। आसपास से जा रहे लोग तुरंत मदद के लिए रुक गए, बच्चों को बचाने के लिए बस के शीशे तोड़कर बच्चों को बाहर निकाला और उसके बाद सभी बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद बच्चों के परिजन अस्पताल में पहुंचे।

    प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बस चालक जैसे ही फोरलेन रोड पर आया तो आचानक एक गाय बस के आगे आ गई। उसे बचाने के चक्कर में चालक ने तेजी से बस को डिवाईडर की और घुमा दिया। लेकिन जैसे ही चालक फिर बस का स्टेयरिंग घुमा पाता इससे पहले बस पलट गई। बस में सवार बच्चों की उम्र आठ साल से चौदह साल के बीच हैं। अधिकतर बच्चों के खरोंचें आई है। कुछ के गंभीर चोटें भी लगी है। छह गंभीर बच्चों में से दो को कोटा रैफर किया गया है। चालक द्वारा बस चलाते समय फोन पर बात करने का मामला सामने आ आया है, घटना के बाद से बस चालक फरार है।

    झालावाड़ के DSP बृजमोहन मीणा ने बताया कि बस के कंडेक्टर को भी चोट आई है। बस चालक के बारे में पता चला कि जैसे ही उसने बस फोरलेन रोड पर ली था उस समय वह फोन पर बात कर रहा था और बस भी तेज चल रहीं थी। बताया जा रहा है कि अचानक कोई गाय भी सामने आई थी। बस चालक ने बस के सफर के दौरान बच्चों की जान जोखिम में डालने की कोशिश की है। बड़ी बात ये है कि बस पलटने के बाद बच्चों को बस में फंसा होने के बाद भी चालक खुद मौके से फरार हो गया। जिसके चलते पुलिस ने चालक के खिलाफ केस दर्ज किया है।

    बस दुर्घटना को लेकर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुधंरा राजे ने इस घटना पर शोक जताते हूए इस घटना के संबंध में स्थानीय अधिकारियों से बात कर घटना कि जानकारी ली तथा घायल हुए बच्चों के माता-पिता से भी बात की। वहीं राजे ने अधिकारियों से जांच का आग्रह भी किया है, ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा ना हो।

    कॉपी राइटर – आकाश वर्मा