हनीट्रैप में फंसा राजस्थान में तैनात जवान, पाकिस्तानी एंजेट्स को दी खुफिया जानकारी

    0
    27

    जयपुर। पाकिस्तानी महिला एजेंट्स ने फिर एक भारतीय जवान को हनीट्रैप में फंसा लिया। जवान वॉट्सऐप चैट और वीडियो कॉल के जरिए उनके संपर्क में था और संवेदनशील सूचनाएं भेज रहा था। आरोपी सैन्यकर्मी शांतिमोय राणा को गिरफ्तार कर लिया गया है। आपको पता दे कि यह पहली बार नहीं जब किसी जवानों को हनीट्रैप में फंसा गया है, इससे पहले कई जवान पाकिस्तानी महिला एजेंट्स से धोखा खा चुके है।

    सीक्रेट डॉक्यूमेंट्स भेजे
    राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस विंग ने 24 साल के शांतिमय को गिरफ्तार किया है। जवान पश्चिम बंगाल के बागुंडा जिले के गांव कंचनपुर का रहने वाला है। वह जयपुर में अर्टलरी यूनिट में जवान की तैनाती थी। राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस विंग के डायरेक्टर जनरल उमेश मिश्रा के मुताबिक पाकिस्तानी एजेंट गुरनौर कौर उर्फ अंकिता और निशा ने सोशल मीडिया के जरिए जवान से दोस्ती की और फिर गोपनीय जानकारी हासिल की।

    बैंक खाते में रुपए आए
    महिला निशा ने खुद को मिलिट्री नर्सिंग सर्विस में बताया था। इन महिलाओं ने शांतिमोय को हनीट्रैप में फंसाकर उसे पैसों का भी लालच दिया। उससे रेजीमेंट के सेंसटिव व गोपनीय डॉक्यूमेंट्स और युद्धाभ्यास के वीडियो मंगवाए। बताया जा रहा है कि इसके एवज में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर आरोपी जवान के बैंक खाते में रुपए भी भेजे गए।