बाड़मेर में नाबालिग से गैंगरेप, शादी का झांसा देकर 7 दिन तक बंधक बनाकर रखा

    0
    281

    जयपुर। बलात्कार के मामले पहले से ही नम्बर वन राजस्थान में दुष्कर्म की घटनाएं रुक नहीं पा रही हैं। हवस के दरिंदे महिलाओं और बच्चियों को शिकार बना रहे हैं। हाल ही में प्रदेश के बाड़मेर जिले एक नाबालिग से गैंगरेप का मामला सामने आया है। बाड़मेर के एक गांव में नाबालिग को शादी का झांसा देकर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। आरोपी पीड़िता को उसके घर से रात को बाइक पर बैठाकर जोधपुर ले गया। उसने 7 दिन तक नाबालिग को बंधक बनाकर रखा और दोस्त के साथ मिलकर गैंगरेप किया। मुख्य आरोपी तीन बच्चों का बाप है।

    7 दिन कमरे में बंधक बनाकर किया गैंगरेप
    पीड़िता के पिता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर पुलिस ने 8 दिन बाद नाबालिग को बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। बयान में पीड़िता ने बताया कि दोनों आरोपियों ने 7 दिन जोधपुर में कमरे में बंधक बनाकर गैंगरेप किया। सदर थानाधिकारी अनिल कुमार के मुताबिक जोधपुर गई टीम ने जोधपुर की एक कॉलोनी में कमरे से नाबालिग को छुड़ाया। आरोपी भास्कर उर्फ भाखराराम और हरीश पुत्र श्यामलाल प्रजापत निवासी सूरसागर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

    तीन बच्चों का बाप है आरोपी
    नाबालिग बच्ची को घर से शादी का झांसा देकर उठाकर ले जाने वाला आरोपी भास्कर शादीशुदा और तीन बच्चों का बाप है। सिणधरी निवासी भास्कर जोधपुर के सूरसागर में कमठा मजदूरी करता है। वहां पर किराए के कमरे में रहता है। 12 अक्टूबर की रात को जोधपुर से 200 किलोमीटर दूर नाबालिग के गांव पहुंचा। नाबालिग से रात को संपर्क कर उसे बाहर बुलाया और शादी का झांसा देकर वहां से लेकर रवाना हो गया। सूरसागर में अपने दोस्त हरीश प्रजापत के साथ मिलकर बालिका को एक कमरे में बंधक बना दिया।

    RESPONSES

    Please enter your comment!
    Please enter your name here