कोटा में अलग अलगह हादसों 5 बच्चों सहित 7 लोग नहर में डूबे, 4 शव बरामद

0
50

जयपुर। प्रदेश के कोटा जिले में रविवार को हुए तीन अलग-अलग हादसों में सात लोग नहर और चंबल नदी में डूब गए। इन हादसों में चार लोगों की जान चली गई। वहीं तीन अन्य की तलाश की जा रही है। एक दिन में सात लोगों के डूबने की हुई सिलसिलवार घटनाओं से जिले में सनसनी फैल गई। पुलिस और राहत एवं बचाव कार्य करने वाली एसडीआरएफ (SDRF) की टीमों का रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। हादसे के शिकार हुए लोगों के घरों में कोहराम मचा हुआ है।

डाबर गांव में 3 चचेरी बहने नहर में डूबी
बताया जा रहा है कि कोटा में सात लोग तीन अलग-अलग हादसों में नहर और नदी में डूबे हैं। पहला हादसा सुल्तानपुर थाना इलाके के डाबर गांव में हुआ। वहां 3 चचेरी बहने नहर में नहाते समय डूब गईं। इनमें दो के शवों को बाहर निकाल लिया गया है। उनकी एक बहन अभी लापता है। इस हादसे में अर्चना (16) पुत्री युधिष्टर निवासी डाबर और उसकी बुआ की लड़की राधा (18) पुत्री सत्यनारायण निवासी खेड़ली महादीप की मौत हो गई। उनकी तीसरी बहन नन्दनी (12) पुत्री धनराज निवासी डाबर की तलाश की जा रही है।

एक बच्चे को बचाया दूसरा डूबा
वहीं दूसरी घटना की बात करे तो सुल्तानपुर थाना इलाके के नोताडा में अमरपुरा रोड़ स्थित नहर की है। नहर में नहाते समय दो बच्चे डूब गए। इनमें से एक बच्चे को लोगों ने बचा लिया। लेकिन वह बच्चा वहां किसी को कुछ जानकारी दिए बिना ही भाग गया। नहर किनारे पड़े बच्चे के कपड़ों का फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के आधार पर पुलिस व स्थानीय ग्रामीण बच्चे की तलाश में जुटे। गोताखोर टीम को मौके पर बुलाया गया। लापता बच्चे की पहचान सूरज (15) के रूप में हुई।