जालोर संत सुसाइड मामले मामला, विधायक पूराराम चौधरी सहित 3 के खिलाफ FIR

    0
    31

    जयपुर। राजस्थान में बीते कुछ सालों से अपराधिक चर्म पर है। प्रदेश में महिलाओं, बच्चियों के साथ अब साधु और संत भी सुरक्षित नहीं है। भरतपुर के बाद जालोर में संत ने की खुदकुशी का मामला गर्माया हुआ है। जालोर जिले के सुंधा माता तलहटी में गौरक्ष आदेश श्री बालाजी हनुमान मंदिर आश्रम के के सुसाइड मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है। शुक्रवार देर रात जसवंतपुरा पुलिस थाने में भीनमाल विधायक पूराराम चौधरी सहित तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने धारा 306 के तहत विधायक के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

    एफआईआर में विधायक के ड्राइवर का नाम
    पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर में विधायक के ड्राइवर का नाम भी शामिल है। संत के समर्थकों ने उनके शव को पेड़ से उतारने से इनकार कर दिया है। संत रविनाथ की बॉडी दो दिन से पेड़ पर लटक रही है। प्रशासन और साधु-संतों के साथ हुई देर रात 3 बजे तीसरे दौर की वार्ता भी विफल रही। रातभर संत के समर्थक डटे रहे। फिलहाल मौके पर भारी पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है।

    संत ने परेशान होकर की आत्महत्या
    मौके पर पहुंचे हजारों की संख्या में भीड़ ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। जालोर से पहुंचे अतिरिक्त पुलिस फोर्स के साथ तमाम पुलिस के बड़े अधिकारी लोगों को समझाइश के प्रयास कर रहे हैं लेकिन अभी तक वार्ता सफल नहीं हुई है। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि विधायक ने आश्रम के आगे की जमीन पर रिसोर्ट बनाने के लिए चारों तरफ खाई खोद दी। ऐसे में आश्रम जाने के लिए रास्ता पूरी तरीके से बंद हो गया जिसको लेकर संत ने रास्ते की मांग। सालों से लगाए गए एक पीपल के पेड़ को बचाने के लिए संत ने विधायक से बार-बार गुहार लगाई। लेकिन विधायक ने रास्ता नहीं दिया है। ऐसे में परेशान होकर के संत ने आत्महत्या कर ली।