राजस्थान में युवा कांग्रेस में भारी असंतोष, 43 पदाधिकारियों को थमाया नोटिस

    0
    105

    जयपुर। राजस्थान के प्रदेश युवा कांग्रेस भारी असंतोष छाया हुआ है। प्रदेश युवक कांग्रेस के 43 पदाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। बताया जा रहा है कि इन पदाधिकारियों को 48 घंटे में अपना जवाब देना है। अगर पदाधिकारी ऐसा नहीं करते है ​तो संगठन द्वारा कार्रवाई की जाएगी। मामला हाल ही में हुई संगठन की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक से जुड़ा है। राजसमंद में 22 और 23 मार्च को प्रदेश कार्यकारिणी की यह बैठक बुलाई गई थी जिसमें पदाधिकारी शामिल नहीं हुए थे। मामले को गंभीर मानते हुए इंडियन यूथ कांग्रेस की ओर से इन पदाधिकारियों को शोकॉज नोटिस जारी कर कारण पूछा गया है।

    इनको थमाया गया नोटिस
    इंडियन यूथ कांग्रेस ने 2 प्रदेश उपाध्यक्ष, 10 प्रदेश महासचिव, 18 प्रदेश सचिव और 13 जिलों के अध्यक्ष को नोटिस जारी किए है। संगठन की राजस्थान प्रभारी डॉ. पलक वर्मा, सह प्रभारी मितेन्द्र दर्शन सिंह, मंजू तोंगर और प्रदेशाध्यक्ष गणेश घोघरा के हस्ताक्षर से कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं।

    इस वजह से उपजा असंतोष
    माना जा रहा है कि बैठक में इतनी बड़ी संख्या में पदाधिकारियों के प्रदेश कार्यकारिणी से अनुपस्थित रहने की मुख्य वजह संगठन में असंतोष उपजा है। दरअसल, प्रदेश में सियासी संकट के बाद संगठन प्रदेशाध्यक्ष को बदलकर डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा को जिम्मेदारी दी गई थी। तब से ही युवा कांग्रेस के कई पदाधिकारी असंतुष्ट नजर आ रहे हैं। पूर्व में भी युवा कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी डॉ. पलक वर्मा द्वारा एक जिलाध्यक्ष को बर्खास्त किया जा चुका है।

    RESPONSES

    Please enter your comment!
    Please enter your name here