सियासी संकट के बीच संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, सरकार गिरने की ओर किया संकेत

0
38

जयपुर। सूबे में जारी सियासी घमासान के बीच अब सीएम फेस पर रार की स्थिति उत्पन्न हो गई है। एक ओर गहलोत समर्थक विधायक इस्तीफे देकर आलाकमना पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं तो वहीं, दूसरी ओर आलाकमान भी पूरी सख्त से मामले के निपटान में लगा है। सीएम के सलाहकार संयम लोढ़ा ने बड़ा बयान दे दिया। उन्होंने गहलोत सरकार के 5 साल पूरे करने पर संशय जाहिर किया। सिरोही विधायक लोढ़ा ने कहा कि अगर सरकार रही, जनवरी तक और भी विकास कार्य पूरे किए जाएंगे। इस बयान से अब राजनैतिक हलकों में कई कयास लगाए जा रहे हैं। बयान के बाद इतना तो साफ है के भले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अलाक़मान से माफ़ी मांग ली हो पर गहलोत समर्थक विधायक झुकने को बिलकुल तैयार नहीं हैं।

लोढ़ा के बयान पर सियासी गलियारों में चर्चाओं
लोढ़ा के इस बयान के बाद से ही सूबे की सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म है। उनके इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है कि सीएम अशोक गहलोत राज्य में हुए घटनाक्रम के लिए आलाकमान से माफी मांग ली हो। लेकिन उनके समर्थकों के बीच सब कुछ ठीक नहीं है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि अगर गहलोत मुख्यमंत्री पद से हटते हैं तो फिर सरकार अस्थिर हो सकती है।

तो गिर जाएगी कांग्रेस सरकार
ऐसे में अगर गहलोत मुख्यमंत्री पद से हटते हैं तो संयम लोढ़ा का यह बयान साफ़ इशारा कर रहा है कि सरकार गिर सकती है। विधायक लोढ़ा भी उन विधायकों में शामिल हैं, जिन्होंने स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंपा है।