सामूहिक विवाह सम्मेलन में 11 जोड़े का धर्म परिवर्तन, हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ दिलाई शपथ

    0
    67

    जयपुर। प्रदेश में धर्मांतरण का एक और बड़ा मामला सामने आया है। भरतपुर जिले के कुम्हेर कस्बे में एक सामूहिक विवाह सम्मेलन में 11 नवविवाहित जोड़ों का धर्मांतरण करवाया गया। संत रविदास सेवा विकास समिति की ओर से आयोजित इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में 11 जोड़ों को हिंदू देवी देवताओं को नहीं मानने की शपथ दिलाई गई। उसके बाद सभी जोड़ों ने बौद्ध धर्म अपनाया। धर्म परिवर्तन कराने की वीडियोग्राफी भी कराई गई है। विश्व हिंदू परिषद ने इस शपथ पर आपत्ति दर्ज कराकर आंदोलन करने की चेतावनी भी दी है।

    सम्मेलन में कई अधिकारी थे मौजूद
    समिति की ओर से यह सामूहिक विवाह सम्मेलन कुम्हेर कस्बे के एक निजी मैरिज होम में करवाया गया था। विवाह सम्मेलन में डीग डीग और कुम्हेर के अधिकारी भी मौजूद रहे। विवाह कार्यक्रम के बाद जब सभी अधिकारी वहां से चले गए तो आयोजकों ने 11 जोड़ों को 22 शपथ दिलवा दी।

    विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने जताया विरोध
    पूरे मामले को लेकर विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने आपत्ति जताई है। विश्व हिंदू परिषद के भरतपुर जिला अध्यक्ष लाखन सिंह ने कहा कि यह बहुत ही गंभीर मामला है। यह देश की अखंडता के लिए खतरा है। हम कड़े शब्दों में इसका विरोध करते हैं। विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष होने के नाते मैं अपील करता हूं कि प्रशासन इस तरफ ध्यान दे। वरना हम मुहिम चलाकर कार्रवाई करेंगे, विरोध करेंगे तो ऐसे लोग ही जिम्मेदार होंगे।