डॉक्टर ने डॉगी को कार से बांधकर सड़क पर दौड़ाया, केस दर्ज

    0
    27

    जयपुर। डॉक्टर्स को धरती का भगवान कहा जाता है। अगर वही क्रूर व्यवहार करने लगे तो उसे क्या कहियेगा। कुछ ऐसा ही मामला प्रदेश के जोधपुर शहर में सामने आया है। यहां एक डॉक्टर ने डॉगी के प्रति जो क्रूरता दिखाई उससे लोगों का गुस्सा भड़क गया। इस डॉक्टर ने डॉगी को रस्सी से अपनी कार से बांधकर जोधपुर की सड़कों पर दौड़ाया। अब इसका वीडियो और फोटो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहे हैं।

    गाड़ी में बांधकर 5 किलोमीटर तक घसीटा
    जोधपुर के एक डॉक्टर ने रविवार को क्रूरता की हदें पार कर दीं। उसके घर में एक स्ट्रीट डॉग घुसा तो उसने डॉग को अपनी गाड़ी में बांधकर 5 किलोमीटर तक घसीटा। इससे कुत्ता गंभीर रूप से घायल हो गया। उसका पैर फ्रैक्चर हो गया और उसकी स्किन तक फट गई।

    डॉक्टर ने ही बुलाई पुलिस
    फाउंडेशन के लोगों ने घायल कुत्ते के लिए अपनी एंबुलेंस बुलाई तो डॉक्टर ने हंगामा कर दिया। उसने शास्त्रीनगर थाने को कॉल कर दिया और पुलिस भी आ गई। फाउंडेशन के सदस्य कुलदीप ने बताया कि पुलिस ने भी एंबुलेंस को रोक कर रखा।

    इंसानियत शर्मसार
    इंसानियत को शर्मसार करने वाले इस वीडियो और फोटो पर लोग तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं। डॉक्टर के खिलाफ पशु क्रूरता का मामला दर्ज किया गया है।

    जानिए क्या है नियम
    फिलहाल आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है। अपर्णा बिस्सा ने बताया कि आईपीसी की धारा- 428, 429 और पीसीए एक्ट की धारा-11 के तहत स्ट्रीट डॉग को मारना.पीटना प्रताड़ित करना दंडनीय अपराध है। सरकार की नीति और एनिमल बर्थ कंट्रोल- 2011 के तहत जिस क्षेत्र में स्ट्रीट डॉग का आतंक है। वहां उनकी नसबंदी की जा सकती है लेकिन मारा नहीं जा सकता। यदि कोई इन स्ट्रीट डॉग या मवेशियों को परेशान करता है या मारने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ पशु क्रूरता का केस दर्ज किया जा सकता है।